Dhammapada धम्मपद, Yamak Vaggo यमक वग्गो

मन ही प्रधान है (mind is prime)

श्रावस्ती के जेतवन महाविहार में चक्खु पाल नामक एक अंधे अर्हत भिक्षु थे। प्रातःकाल उनके टहल्ते समय पैरों के नीचे दबकर बहुत सी बीरबहुटिया मर जाती थीं। एक दिन कुछ भिक्षुओं ने यह बात भगवान से कही। भगवान ने कहा - "भिक्षुओं! चक्खूपाल अर्हत भिक्षु है, अर्हत को जीवहिंसा करने की चेतना नहीं होती है।"… Continue reading मन ही प्रधान है (mind is prime)

Advertisements